REET 2021 का मामला High Court में पहुँचा-विवादित प्रश्नों को लेकर याचिका लगाई |

By | November 9, 2021

REET 2021 का मामला High Court में पहुँचा, 26 सितम्बर 2021 को आयोजित हुई रीट परीक्षा में आए विवादित प्रश्नों पररामेश्वर प्रसाद और अन्य ने High Court में याचिका दायर की है, REET मामला उच्च न्यायालय में जाने से 3rd Grade भर्ती में भी देरी हो सकती है |

रीट 2021 एक ऐसी परीक्षा है, जो परीक्षा होने से पहले और परीक्षा होने के बाद भी चर्चा में बनी हुई है l मामला यह है कि रीट 2021 की परीक्षा 26 सितंबर 2021 को आयोजित हुई थी l इसके आयोजन के बाद ही नए-नए मामलों के कारण यह परीक्षा विवादों से घिरी हुई है l सबसे पहले तो रीट परीक्षा लिक होने के कारण विवादों में थी l

उसके पश्चात बीएड को प्रथम लेवल में शामिल ना करने का मामला भी काफी विवादों में बना हुआ है l अब रीट के विवादित प्रश्न के कारण विवाद बना हुआ है l रीट 2021 में Level 1 और Level 2 में कुछ ऐसे प्रश्न पूछे गए थे जिनमें प्रश्न का सही उत्तर विकल्प के आधार पर एक से ज्यादा हो रहा है l कुछ प्रशन के उत्तर विकल्प में दिए ही नहीं हुए हैं और कुछ प्रश्न ऐसे हैं, जो आउट ऑफ सिलेबस हैं l राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर के द्वारा रीट उत्तर कुंजी जारी करने के पश्चात उत्तर कुंजी से संबंधित आपत्ति मांगी गई थी l

सभी इच्छुक परीक्षार्थियों ने जो भी प्रश्न आपत्ती लगाने लायक थे उन सभी प्रश्नों पर आपत्ति भी लगाई l लेकिन बोर्ड के द्वारा सभी प्रश्नों में से सिर्फ कुछ प्रश्न पर बोनस दिए हैं l बाकी प्रश्नों को अनदेखा कर दिया है जिसके कारण रीट लेवल वन और लेवल 2 दोनों के परीक्षार्थी काफी गुस्से में है l बोर्ड की गलती की सजा छात्र को भुगतनी पड़ेगी l यदि बोर्ड गलत प्रश्नों पर परीक्षार्थियों को बोनस अंक देदे, तो ऐसे अभ्यर्थी जो कुछ नंबरों से पीछे हैं वह भी चयन ले सकते हैं l इसीलिए अभ्यर्थियों के द्वारा बोनस अंक देने और Reet 2021 Revised Result जारी करने की मांग की जा रही है l 

कोर्ट में दायर याचिका के कारण थर्ड ग्रेड टीचर भर्ती में हो सकती है देरी

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर के द्वारा कुछ विवादित प्रश्नों पर की गई अनदेखी के कारण Reet Level 1 और Reet Level 2 के अभ्यार्थी काफी नाराज हैं और इसीलिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की जा चुकी है l यह याचिका रामेश्वर प्रसाद और अन्य के द्वारा दायर की गई है l इनके अधिवक्ता रामप्रसाद सैनी है l कुल मिलाकर 10 प्रशन ऐसे हैं जिन्हें हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है और आगामी समय में हाईकोर्ट की एकलपीठ में सुनवाई भी होने वाली है l

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर के द्वारा यदि पहले ही विवादित प्रश्न का हल किया जाए तो मामला कोर्ट में नहीं लटकेगा l अक्सर ऐसा होता है कि बोर्ड की गलतियों के कारण भर्तियां कोर्ट में लंबी अटक जाती हैं l जिसके कारण योग्य अभ्यर्थी को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है l अब देखना यह होगा कि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर इस मामले का क्या हल निकालता है ताकि जल्दी से जल्दी इस मामले को खत्म किया जा सके l

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *